महाराष्ट्र की इस झील का पानी हुआ लाल, वैज्ञानिक हैरान

दुनिया भर में कई अजीबो-गरीब प्राकृतिक घटनाएं होती है। ऐसी ही एक घटना महाराष्ट्र राज्य के बुलढाणा जिले में देखने को मिली है। 1.2 किमी. व्यास वाली लोणार झील का रंग बदल कर अब लाल हो गया है। मूलत: इस झील का पानी नीला या हरा दिखाई पड़ता है पर झील के पानी का लाल रंग में परिवर्तित होने से सभी भू-वैज्ञानिक हैरान हैं।

लोणार के तहसीलदार सैफन नदाफ का कहना है कि “पिछले दो-तीन दिनों से हमने ध्यान दिया तो पाया कि झील के पानी का रंग बदल गया है। हमने वन विभाग को इस का सैंपल लेकर जांच करने को कहा है।”

फिलहाल पानी के रंग में बदलाव को लेकर वैज्ञानिकों के अलग-अलग मत हैं, कहा जा रहा है कि पानी में हालोबैक्टीरिया और डुओनीला फंगस के बढ़ जाने से कैरोटीनॉइडनामक पिगमेंट बढ़ जाता है जिसके कारण झील के पानी का रंग लाल हो सकता है।

लोणार झील का निर्माण कैसे हुआ

The Gazette Today India - महाराष्ट्र की इस झील का पानी हुआ लाल, वैज्ञानिक हैरान
प्रतीकात्मक फोटो

भू-वैज्ञानिकों का मानना है, कि इस झील का निर्माण लगभग 50 हज़ार वर्ष पहले अंतरिक्ष से आए एक उल्का पिंड के पृथ्वी से टकराने के कारण हुआ था। जब वह उल्कापिंड टकराया था तब उस समय उसका वजन तकरीबन 10 लाख टन होगा। झील का आकार एकदम गोलाकार है।

दुनियाभर के वैज्ञानिकों की इस झील में काफी दिलचस्पी रही है। दुनिया के कुछ अद्भुत झिलों में से एक है। इस झील पर लगातार शोध होते आ रहे हैं। बताया जाता है कि इस झील के पानी में लगातार बदलाव आते रहते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: