नेपाल सरकार ने देश के नए मानचित्र को संसद के पटल पर रखा

नेपाल सरकार ने देश के नए नक्शा को संसद के पटल पर रखा है। बता दें कि इस प्रस्ताव को नेपाली संसद के दोनों सदनों में पास होने और उसके बाद राष्ट्रपति से अनुमोदित होने के बाद पुराने नक्शा की जगह नए नक्शा को मान्यता दे दी जाएगी। बता दें कि इसे महज औपचारिकता ही माना जा रहा है, क्योंकि नेपाल सरकार के भूमि प्रबंधन विभाग ने नए नक्शे की छपाई शुरू कर दी है।

आपको बता दें कि नेपाल सरकार ने भारत के लिपुलेख और कालापानी क्षेत्र को अपने नए नक्शे में शामिल किया है। जिसके चलते भारत सरकार ने भी आपत्ति जताई थी। मिली जानकारी के मुताबिक ओली सरकार संविधान में संशोधन होते ही नए नक्शे के उपयोग को लेकर सभी मंत्रालयों को एक परिपत्र जारी करेगी। विदेश मंत्रालय के माध्यम से नेपाल के नए नक्शे और नए निशान का उपयोग विभिन्न राज्यों के दूतावासों के अलावा संयुक्त राष्ट्र में भी किया जाएगा।

The Gazette Today India - नेपाल सरकार ने देश के नए मानचित्र को संसद के पटल पर रखा
Map of Disputed India – Nepal Territory

साथ ही आपको बताते चलें कि भारत व नेपाल के बीच चल रही तल्खी से सीमांत में रहने वाले दोनों देशों के लोग चिंतित हैं। इस दौरान स्थानीय लोगों ने बताया कि उनके आपस में रोटी-बेटी के रिश्ते हैं। वैवाहिक के साथ-साथ व्यापारिक संबंध भी हैं। दैनिक जरूरतों के लिए भी नेपाल के लोगों को भारतीय बाजार में आना पड़ता है। वही दूसरी ओर नेपाल के लोगों का कहना है कि दोनों देशों को इस मुद्दे पर शीघ्र बातचीत कर हल निकालना चाहिए। ताकि रोटी-बेटी के रिश्ते प्रभावित न हों।

Leave a Reply

%d bloggers like this: