भारत से खाद खरीदने पर किसानों को पीट रही है नेपाल की पुलिस

नेपाल की ओली सरकार अपनी सत्ता बचाने के लिए ना-ना प्रकार के हथकंडे अपना रही है। भारतीय सीमा से सटे नेपाल के बांके और बदरिया गांव के किसान दोहरी मार झेल रहे हैं। एक ओर जहां नेपाल की सरकार किसानों को खाद मुहैया कराने में असमर्थ है वहीं दूसरी ओर भारत से खाद खरीदने पर नेपाल की होली सरकार की पुलिस किसानों को पीट रहे हैं और उन पर अत्याचार कर रही है।

नेपाल की प्रमुख वेबसाइट काठमांडू पोस्ट ने किसानों की दुर्दशा पर एक रिपोर्ट छापी है, जिसमें कहा गया कि खाद के लिए लोन ले चुके किसान दर-दर भटक रहे हैं। धान की खेती में जुटे किसानों को सरकार यूरिया नहीं दे पा रही है। आखिर में किसान भारत से यूरिया खरीदकर लाने लगे। शुरुआत में नेपाल सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया, लेकिन अब किसानों का दमन किया जा रहा है।

The Gazette Today India - भारत से खाद खरीदने पर किसानों को पीट रही है नेपाल की पुलिस
प्रतीकात्मक फोटो

बरदिया पुलिस के एसपी केदार राजौरे ने कहा कि जनप्रतिनिधियों की अपील पर प्रशासन ने कुछ दिनों तक खाद आयात के लिए मंजूरी दी थी। उन्होंने काठमांडू पोस्ट को बताया कि किसानों के संकट को देखते हुए कुछ दिनों के लिए बैन हटा दिया गया था लेकिन इसे दूसरे जिलों में ले जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। शुक्रवार को एक दर्जन से अधिक किसानों को हिरासत में लेकर कस्टम ऑफिस के हवाले कर दिया गया।

गौरतलब है कि भारत में खाद पर सरकार सब्सिडी देती है और इसके निर्यात पर बैन है। नेपाल के किसान इन्हें 1000 से 1500 रुपए कट्टे के हिसाब से खरीद रहे हैं। यह धान की खेती का समय है। किसानों को इसके लिए खाद की जरूरत होती है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: