भारत को घेरने के लिए चीन ने पाकिस्तान के लिए खोला अपने हथियारों का जखीरा

भारत को घेरने के लिए चीन ने पाकिस्तान की नौसेना को आधुनिक बनाने का फैसला किया है। हिंद महासागर में भारत को घेरने के लिए चीन पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट पर एक बहुत बड़ा नौसैनिक अड्डा बना रहा है साथ ही पाकिस्तानी नौसेना को चीन आधुनिक हथियार मुहैया करा रहा है। भारत के करीबी रहे ईरान पर भी चीन की निगाहें टिकी हुई है अब चीन धीरे-धीरे ईरान को अपने खेमे में शामिल करने की ओर बढ़ रहा है।

The Gazette Today India - भारत को घेरने के लिए चीन ने पाकिस्तान के लिए खोला अपने हथियारों का जखीरा
प्रतीकात्मक फोटो

पाकिस्तान को देने वाला है 7 अरब डॉलर के हथियार

चीन, पाकिस्तान को आधुनिक बनाकर भारत को हिंद महासागर क्षेत्र में खेलना चाहता है इसके लिए चीन लगातार पाकिस्तान की मदद कर रहा है। पाकिस्तान ने चीन से युआन क्लास की 7 डीजल-इलेक्ट्रिक से चलने वाली सबमरीन के लिए सबमरीन डील फाइनल की है। इसके अलावा चीन पाकिस्तान को टाइप-054A श्रेणी के बहुद्देशीय स्टील फ्रीगेट्स दे रहा है जो कि रडार को चकमा देने में माहिर है।चीनी नौसेना को आधुनिक बनाने के लिए अन्य हथियारों की आपूर्ति भी पाकिस्तान चीन से कर रहा है। वर्तमान में पाकिस्तान अपना 70 फ़ीसदी हथियार चीन से ही खरीदता है।

The Gazette Today India - भारत को घेरने के लिए चीन ने पाकिस्तान के लिए खोला अपने हथियारों का जखीरा
प्रतीकात्मक फोटो

चीनी हथियारों से घातक बनेगी पाकिस्तानी नौसेना

पाकिस्तान की नौसेना की हालिया स्थिति काफी कमजोर हैं। वर्तमान में पाकिस्तानी नौसेना के पास केवल 9 फ्रीगेट्स, 5 सबमरीन, 10 मिसाइल बोट्स और तीन माइनस्वीपर हैं। चीनी युद्ध पोतों की मदद से पाकिस्तानी नौसेना काफी घातक हो जाएगी उन युद्ध पोतों की मारक क्षमता 4000 समुद्री मील तक है। इन पर जमीन से हवा और और सबमरीन रोधी मिसाइल लगी हुई हैं। पाकिस्तान को यह हथियार वर्ष 2021 से 2023 के बीच में पूर्ण रूप से मिल जाएंगे। पाकिस्तान को मिलने वाली 8 युआन क्लास की पनडुब्बी में से 4 वर्ष 2023 तक मिल जाएंगी।

The Gazette Today India - भारत को घेरने के लिए चीन ने पाकिस्तान के लिए खोला अपने हथियारों का जखीरा
प्रतीकात्मक फोटो

चीन, पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट पर बना रहा है विशाल नौसैनिक अड्डा

सैटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि चीन पाकिस्तान के बॉर्डर पोर्ट पर एक विशाल नौसैनिक अंडा बना रहा है। इस इलाके में सैन्य अधिकारियों की कई तैनाती है।नौसैनिक अड्डे को पूरी तरह से ऊंची ऊंची दीवारों और फेंसिंग के जरिए सुरक्षित रखा जा रहा है साथ ही आसपास दो कतारों में नीले रंग की इमारतें बनी हुई जिससे यह प्रतीत होता है कि यह नौसैनिक अड्डों के कमान सेंटर हो सकते हैं। ग्वादर पोर्ट चीन के बेल्ट ऐंड रोड योजना का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

इसके अलावा चीन जिबूती, मालदीव जैसे देशों में अपने नौ-सैनिक अड्डे बनाकर भारत से युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान की मदद से भारत को कई मोर्चों पर घेरने की तैयारी में लगा हुआ है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: