जानिए अमेरिका में किसने जारी किया CAA के खिलाफ बयान

एक तरफ जहां अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने भारत-चीन विवाद को लेकर भारत के साथ दोस्ताना रवैया अपनाते हुए अमेरिकी सेना को भारत की मदद में तैनात करने की बात कही है, वहीं दूसरी ओर अब अमेरिका में भारत के आंतरिक मामले CAA के खिलाफ विरोधी बयान जारी किए जा रहे हैं।

अमेरिका में इसी वर्ष नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से उम्मीदवार जो बिडेन ने कश्मीर, नागरिकता संशोधन कानून, और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर को लेकर भारत के खिलाफ बगावती सुर अपनाएं हैं।

The Gazette Today India - जानिए अमेरिका में किसने जारी किया CAA के खिलाफ बयान
गेटी इमेज

बिडेन कि कैंपेन वेबसाइट पर एक पोस्ट किया गया जिसका शीर्षक था “मुस्लिम अमेरिकी समुदाय के लिए एजेंडा”इस पोस्ट में बिडेन द्वारा कहा गया कि सीएए और एनआरसी जैसे कदम भारतीय लोकतंत्र की बहुसंस्कृतिवाद और धर्मनिरपेक्षता की सतत परंपरा के खिलाफ है। उन्होंने आगे कहा कि भारत के लिए जरूरी है कि वह कश्मीरियों को उनका हक दिलाने के लिए कदम उठाए। इसके अलावा उन्होंने सीएए और असम में लागू एनआरसी को गलत बताया।

बता दें, डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बिडेन अमेरिका के पूर्व-राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में वर्ष 2009 से 2017 तक अमेरिका के उपराष्ट्रपति रह चुके हैं। भारत को धर्मनिरपेक्षता का ज्ञान देने वाले जो बिडेन को यह स्मरण होना चाहिए कि उनका देश खुद इस समय रंगभेद की आग में झुलस रहा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: