जानिए कौन-सा है वह बड़ा फैसला जो यूरोपियन यूनियन ने कोरोना संकट के बीच लिया है

इस समय पूरी दुनिया कोरोना महामारी से ग्रसित है। इस महामारी की रोकथाम के लिए दुनिया भर के देशों और संगठनों ने अनावश्यक यात्राओं पर रोक लगा दी थी, ताकि कोविड-19 के कम्युनिटी ट्रांसमिशन को रोका जा सके।

यूरोपियन यूनियन ने कोरोना संकट के बीच एक बड़ा फैसला लिया है। अब यूरोपियन यूनियन के राष्ट्रों में 1 जुलाई से अनावश्यक यात्राओं को भी मंजूरी दे दी जाएगी। नई छूट के तहत विद्यार्थियों, हाईली स्किल्ड वर्कर्स को भी इसका लाभ मिलेगा। यूरोप में अब बिना किसी रोक-टोक के लोग 1 जुलाई से यात्रा कर सकते हैं जिसके लिए उन्हें किसी भी प्रकार के आई-कार्ड को दिखाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

The Gazette Today India - जानिए कौन-सा है वह बड़ा फैसला जो यूरोपियन यूनियन ने कोरोना संकट के बीच लिया है
प्रतीकात्मक फ़ोटो

बता दें, कि यूरोपियन यूनियन ने मार्च महीने से ही सदस्य राष्ट्रों और उनके बीच अनावश्यक यात्राओं पर रोक लगा दी थी यह रोक इंग्लैंड को छोड़कर बाकी 27 यूरोपीय देशों सहित आईसलैंड स्वीटजरलैंड नॉर्वे और लिकटेंस्टीन में 15 जून तक लगाई गई थी।

संपूर्ण लॉकडाउन के कारण चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए यूरोपियन यूनियन ने बाहरी सीमाओं को खोलने की सिफारिश की है। पर अभी भी यूरोप के इटली, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, ब्रिटेन जैसे कई देश कोरोना से अभी-भी बुरी तरह प्रभावित हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: