आर्थिक तंगी से जूझ रहा है यह देश, चोरी-छिपे रेत बेचने को हुआ मजबूर

दुनिया भर में आर्थिक प्रतिबंधों के चलते पैसे की तंगी से जूझ रहा उत्तर कोरिया अपने देश की आर्थिक हालत सुधारने के लिए चोरी-छिपे रेत बेच रहा है।पूरी दुनिया की शांति और स्थिरता के लिए खतरा माना जानेवाला देश उत्तर कोरिया कई बार संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक प्रतिबंधों का उल्लंघन कर चुका है। इसमें उत्तर कोरिया पर भारी मात्रा में अवैध रूप से कोयला और अन्य सामान बेचने के आरोप लगे हैं।

The Gazette Today India - आर्थिक तंगी से जूझ रहा है यह देश, चोरी-छिपे रेत बेचने को हुआ मजबूर

CNN के अनुसार उत्तर कोरिया कस्टम्स और संयुक्त राष्ट्र से बचने के लिए रेत को एक जहाज से दूसरे जहाज पर ले जाता है। वर्तमान में 279 जहाज उत्तर कोरियाई समुद्र के आसपास चक्कर लगा रहे हैं। यह आशंका लगाए जा रहे हैं उनमें लाखों मिलियन डॉलर का अवैध सामान है। जीवन के शोधकर्ताओं ने पाया है कि उत्तर कोरिया ने 2019 में 22 मिलीयन डॉलर के रेत का अवैध निर्यात किया था। उत्तर कोरिया पहले भी कोयले के अवैध निर्यात के लिए बदनाम रहा है।

The Gazette Today India - आर्थिक तंगी से जूझ रहा है यह देश, चोरी-छिपे रेत बेचने को हुआ मजबूर

अपनी सैन्य आक्रामकता के कारण संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया पर कई आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं जिसके कारण उसका किसी देश से सीधे तौर पर व्यापार करना मुश्किल है। उत्तर कोरिया की आर्थिक स्थिति बद से बदतर होती जा रही है, दुरुस्त करने के लिए उत्तर कोरिया अवैध रूप से ड्रग्स, हथियारों, कोयले और जानवरों का निर्यात करता है। इस कड़ी में अब रेत भी शामिल हो गया है। दुनिया भर में सालाना 50 बिलियन टन रेत कि खपत होती है। उत्तर कोरिया के इन रेतों का सबसे बड़ा ग्राहक चीन है, क्योंकि चीन में रेत की सबसे ज्यादा मांग होती है।

One thought on “आर्थिक तंगी से जूझ रहा है यह देश, चोरी-छिपे रेत बेचने को हुआ मजबूर

Leave a Reply

%d bloggers like this: