आखिर क्यों अमेरिकी रक्षा मंत्री एस्पर, कर रहे हैं डोनाल्ड ट्रंप का विरोध

दुनिया में महाशक्ति माने जाने वाला देश अमेरिका इस समय दोहरी मार झेल रहा है जहां एक तरफ अमेरिका के 1 लाख़ से अधिक लोग कोरोना से जान गवा चुके हैं वहीं दूसरी ओर अमेरिका में उग्र होता विरोध प्रदर्शन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए मुसीबतें खड़ा कर रहा है।

इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप कि कोरोना को लेकर ठीक तरह से प्रबंधन न करने के कारण उनकी आलोचना हो चुकी है। वहीं दूसरी ओर 27 मई को अमेरिका के मिनीपोलीस में 46 वर्षीय जॉर्ज फ्लॉयेड नामक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस हिरासत में मौत के बाद अमेरिका के 1 दर्जन से अधिक राज्यों में उग्र विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, जिसको लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति ने विद्रोही कानून लाने और प्रदर्शन को रोकने के लिए सेना लगाने की धमकी दी थी। जिसके बाद खुद अमेरिका के रक्षा मंत्री एस्पर राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ खड़े हो गए हैं।

The Gazette Today India - आखिर क्यों अमेरिकी रक्षा मंत्री एस्पर, कर रहे हैं डोनाल्ड ट्रंप का विरोध

व्हाइट हाउस और पेंटागन के बीच लगातार तनाव की खबरें भी सामने आ रही है। ट्रंप के इस प्रकार के धमकी भरे बयानों के कारण पेंटागन के सलाहकार जूनियर मिलर पहले ही स्तीफा दे चुके हैं। अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने पेंटागन में हुई प्रेस वार्ता के दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों के खिलाफ विद्रोही कानून लागू करने पर असहमति जताई है। कानून लागू होने पर ट्रंप को विरोधियों के खिलाफ सेना के इस्तेमाल का अधिकार मिल जाएगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: