1979 के बाद पहली बार इस बड़े फुटबॉल टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा भारत

1979 के बाद पहली बार 2022 महिला एशियाई कप की मेजबानी एशियाई फुटबॉल परिसंघ ने भारत को दी हैं. बता दें कि यह फैसला एएफसी महिला फुटबॉल समिति की बैठक में लिया गया. वही फरवरी में एएफसी महिला फुटबॉल समिति ने भारत को मेजबान बनाने की सिफारिश की थी. अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ को लिखे पत्र में एएफसी के महासचिव दाटो विंडसर जॉन ने लिखा, ‘समिति ने एएफसी महिला एशिया कप 2022 फाइनल्स की मेजबानी के अधिकार अखिल भारतीय फुटबॉल को सौंपे हैं’

आपको बता दें कि एआईएफएफ अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल ने बताया, ‘मुझे एशियाई फुटबॉल परिसंघ का शुक्रिया करना होगा जिसने हमें 2022 में एएफसी महिला एशिया कप की मेजबानी के लिये उचित समझा.’ ‘टूर्नामेंट महत्वकांक्षी महिला खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करेगा और जहां तक देश में महिला फुटबॉल का संबंध है तो यह सामाजिक क्रांति लायेगा.’ टूर्नामेंट में 12 टीमें हिस्सा लेंगी जिन्हें पिछले चरण की 8 टीमों से बढ़ा दिया गया है।

साथ ही आपको बताते चलें कि भारत बतौर मेजबान सीधे ही क्वालीफाई कर लेगा. टूर्नामेंट 2023 फीफा महिला वर्ल्ड कप के लिए अंतिम क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के तौर पर भी काम करेगा. एआईएफएफ के लिए ये मेजबानी मनोबल बढ़ाने वाली है क्योंकि उसे फीफा अंडर-17 महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी भी सौंपी गयी थी जिसका आयोजन अगले साल होगा. भारत ने 2016 में एएफसी अंडर-16 चैम्पियनशिप और 2017 में फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप की मेजबानी की थी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: