दावा! यह बीमारी कोरोना से कर सकती है इम्यून: साइंटिस्ट्स

सिंगापुर के ड्यूक-एनयूएस मेडिकल स्कूल में इम्यूनोलॉजी के प्रोफेसर एन्टोनियो बर्टोलेट्टी और उनके कलीग ने स्टडी की है. जिसमें उन्होंने बताया कि कोरोना से लड़ने में किस तरह टी सेल्स प्रभावी भूमिका निभा सकता है. डेली मेल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, स्टडी में कहा गया कि कुछ प्रकार के कॉमन कोल्ड से पैदा हुई इम्यूनिटी 17 सालों तक कोरोना से बचाने में कारगर साबित हो सकती है।

The Gazette Today India - दावा! यह बीमारी कोरोना से कर सकती है इम्यून: साइंटिस्ट्स

क्या करा गया रिसर्चर्स के दौरानरान

आप को बता दे कि स्टडी के लिए कोरोना से बीमार हो चुके 24 मरीज, सार्स से बीमार होने वाले 23 मरीज और 18 ऐसे मरीज के ब्लड सैंपल लिए गए थे जो न तो कोविड-19 और न ही सार्स से संक्रमित हुए थे . स्टडी में देखा गया कि कोविड-19 या सार्स से संक्रमित नहीं होने वाले आधे लोगों में इम्यून रेस्पॉन्स पैदा करने वाले टी सेल्स मौजूद थे.

The Gazette Today India - दावा! यह बीमारी कोरोना से कर सकती है इम्यून: साइंटिस्ट्स
बीटा कोरोना वायरस

क्या कहती है रिसर्चर्स

रिसर्चर्स के मुताबिक जो लोग पहले बीटा कोरोना वायरस की वजह से कॉमन कोल्ड के शिकार हो चुके हैं, उनके पास कोविड-19 के खिलाफ इम्यूनिटी हो सकती है या फिर वे कोविड-19 से मामूली रूप से ही पीड़ित होंगे. कोरोना फैमिली वायरसों के कारण काफी कोल्ड के मामले होते हैं पर अभी तक बीटा कोरोना वायरस के कारण कितने कोल्ड के मामले होते हैं,यह जानकरी नहीं मिली हैं. खासकर OC43 और HKU1 नाम के बीटा कोरोना वायरस से कॉमन कोल्ड होने पर बुजुर्ग और युवाओं की छाती में गंभीर संक्रमण पैदा होता है. लेकिन इन वायरस के कई जेनेटिक फीचर कोविड-19, मर्स और सार्स से मिलते हैं. साइंटिस्ट्स का कहना है कि अगर व्यक्ति मिलते-जुलते जेनेटिक मेक-अप वाले वायरस से पहले शिकार हो चुका है तो शरीर में मौजूद मेमोरी टी सेल्स की वजह से सालों बाद भी वह इम्यून हो सकता है. साथ ही दे दें कि कुछ एक्सपर्ट का कहना है कि 2003 में सार्स के शिकार होने वाले लोगों में कोविड-19 में पाए जाने वाले प्रोटीन को लेकर इम्यून रेस्पॉन्स देखा गया है. इस बात के भी संकेत मिले हैं कि कोविड-19 के मरीजों में लंबे वक्त के लिए टी-सेल्स इम्यूनिटी डेवलप हो सकती है.

फिलहाल इस स्टडी को आखिरी निष्कर्ष नहीं माना जा सकता, इस स्टडी को निष्कर्ष तक ले जाने के लिए अभी और ट्रायल की जरूरत है.. अब तक किसी भी अन्य देश के स्वास्थ्य अधिकारियों की ओर से इस पर प्रतिक्रिया नहीं आई है।

One thought on “दावा! यह बीमारी कोरोना से कर सकती है इम्यून: साइंटिस्ट्स

Leave a Reply

%d bloggers like this: