इंसानियत की मिसाल पेश कर रहें.. लखनऊ के 80 वर्षीय मुजीउल्लाह-

कोरोना के कहर का असर सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूरों पर पड़ा है। सोनू सूद से लेकर अमिताभ जैसे मशहूर अभिनेता काफी मदद कर रहे हैं, ऐसे में लखनऊ के मुजीउल्लाह नाम के 80 वर्षीय बुजुर्ग जो पेशे से कुली हैं ,वे भी प्रवासी मजदूरों के मदद के लिए आगे आए हैं। मुजीउल्लाह मुफ्त में लोगों का सामान उठाने का काम कर रहे हैं और साथ ही लोगों को मुफ्त में भोजन भी करा रहे हैं।
मुजीउल्लाह का कहना है कि सभी चीज़े ठीक होने के बाद फिर पैसा कमा सकते हैं।

उनके इस पहल की तारीफ़ टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने भी की। आपको बता दें कि 80 वर्ष की उम्र में मुजीउल्लाह हर रोज 8 से 10 घण्टे काम करते हैं। वे एक बार में 50 किलोग्राम तक का वज़न उठा सकते हैं।

क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने उनकी तस्वीर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा कि ‘इंसानियत की कोई उम्र नहीं होती. यह लखनऊ के चारबाग स्टेशन में 80 वर्षीय मुजीउल्लाह पेशे से कुली है. वह प्रवासियों को उनके सामान के साथ मदद करते हैं और सेवा के लिए कोई पैसे नहीं ले रहे हैं. साथ ही बिना शुल्क लिए लोगों को भोजन भी करा रहे हैं. इन कठिन समय के दौरान उनकी निस्वार्थता एक प्रेरणा है.’

Leave a Reply

%d bloggers like this: