हिंदी पत्रकारिता दिवस-

समाचार पत्रों का हम सभी के जीवन में विशेष महत्व है। समाज की घटना से लेकर किसी विशेष तथ्य की जानकारी हमें समाचार पत्रों के माध्यम से मिलता है। 30 मई 1826 में पंडित युगल किशोर शुक्ल द्वारा साप्ताहिक हिंदी समाचार पत्र की शुरुआत हुई थी। इस समाचार पत्र का नाम ‘उदंत मार्तण्ड’ था।

‘उदंत मार्तण्ड’ का मतलब ‘उगता हुआ सूर्य’ ।
उस समय में अंग्रेजी ,फारसी बांग्ला में अनेक से पत्र निकल रहे थे, लेकिन हिंदी भाषा में कोई पत्र नहीं निकल रहा था । इस पत्र के संपादक पंडित युगल किशोर शुक्ल जी थे। उनके प्रयासों के कारण ही यह समाचार पत्र निकल पाया था।

इस समाचार पत्र को निकालने का मुख्य उद्देश्य समाज में चल रहे विरोधाभासों एवं अंग्रेज़ी शासन के विरूद्ध आम जन की आवाज़ को उठाना था। पंडित युगुल किशोर शुक्ल जी कानपुर संयुक्त प्रदेश के निवासी थे। वे वकील भी थे।

The Gazette Today India - हिंदी पत्रकारिता दिवस-

उन्होंने बिना किसी सरकारी सहायता के यह पत्र निकाल था । यह पत्र कलकत्ता के कोलूटोला नाम के मोहल्ले की 36 नंबर अमरतल्ला गली से निकलता था . यह समाचार पत्र प्रत्येक मंगलवार को निकलता था। यह समाचार पत्र डेढ़ वर्षों तक चला । इन वर्षों में 79 अंक प्रकाशित हुए थे । पैसे के अभाव में इस पत्र का प्रकाशन दिसंबर 1827 को रोकना पड़ा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: