सेना का बयान- चीन ने भारतीय जवानों को नहीं लिया हिरासत में

भारत और चीन की सेनाओं के बीच लद्दाख में तनाव के बीच खबरें सामने आई थीं कि भारतीय जवानों को चीनी जवानों ने हिरासत में ले लिया गया था और बाद में रिहा कर दिया। वही रविवार को सेना ने एक बयान जारी करते हुए उन खबरों का खंडन किया है जिहमें कहा गया था कि चीन ने भारतीय सैनिकों को बंधक बनाया था। सेना के अनुसार यह पूरी तरह भ्रामक और गलत खबर है. ऐसी खबरें राष्ट्र हित में नहीं है. इससे पहले सेना की ओर से कहा गया था कि चीन की ओर से भारतीय जवानों को हिरासत में नहीं लिया गया था और न ही उनके हथियार छीने गए थे।

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच विवाद का कारण बॉर्डर एरिया में कंस्ट्रक्शन का काम बताया जा रहा है। वही मिली जानकारी के मुताबिक बॉर्डर पर दोनों ओर से तैनाती बढ़ा दी गई है। इसके साथ ही हालात ठीक करने हेतु हर स्तर पर बातचीत जारी है। राजनैतिक, राजनयिक और सेना के स्तर पर मामले को सुलझाने की कोशिश चल रही है।

साथ ही आपको बताते चलें कि भारत और चीन सीमा पर सीमांकन नही है इसलिए दोनों देश के सीमा को लेकर अपने-अपने दावे हैं। वही विवाद सुलझाने हेतु करीबन 20 विशेष प्रतिनिधि स्तर पर बातचीत हो चुकी है। लेकिन नतीजा अब तक नहीं निकला है। बल्कि इतना ही प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग भी सीमा पर विश्वास बहाली के लिये कोशिशें कर चुके हैं, लेकिन आये दिन बॉर्डर पर हालात तनावपूर्ण हो जाते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: