प्रवासी मज़दूरों हेतु बस के मुद्दे में तेज हुई राजनीति सियासत…पूर्व सीएम ने ये किया ट्वीट…

देश में कोरोना वायरस के कहर को रोकने के लिए कंद्र सरकार द्वारा लॅाकडाउन की घोषणा की गई है। वही इस दौरान प्रवासी लोगों का आने-जाने का सिलसिला लगातार जारी है। पर दूसरी ओर सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों की मदद का भी प्रयास जारी है। पर अब प्रवासी मजदूरों का आने का सिलसिला एक राजनीतिक मुद्दा बन गया है। बता दें कि इस मामले को लेकर कांग्रेस और यूपी सरकार आमने-सामने आ चुके हैं। वही अब प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री यानी अखिलेश यादव ने ट्वीट के जरिए योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी सरकार बसों के फिटनेस सर्टिफिकेट के बहाने प्रवासी मजदूरों को सड़कों पर उत्पीड़ित कर रही है।

आगे उन्होंने कहा भाजपा सरकार खुद अपने फिटनेस का सर्टिफिकेट दे कि इस बदहाली में क्या वो देश-प्रदेश चलाने के लायक है। अब कहां हैं पूरी दुनिया में भारत की उज्ज्वल होती छवि का ढिंढोरा पीटने वाले।

साथ ही आपको बताते चलें कि मंगलवार शाम को यूपी में बसों की एंट्री को लेकर आगरा में राजस्थान की सीमा पर कांग्रेस के कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए. वे यूपी में बसों की इजाजत मांग रहे थे. वहीं, पुलिस ने उनसे बसों के परमिट और कागजात मांगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: