पूर्व बीजेपी अध्यक्ष केंद्रीय गृहमंत्री ने बिहार के पहली वर्चुअल रैली ‘बिहार जनसंवाद’ के अंतर्गत सरकार के कामों की चर्चा करते हुए विपक्ष पर बोला हमला-

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के पूर्व अध्यक्ष व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बिहार के लिए पहली वर्चुअल रैली ‘बिहार जनसंवाद’ के तहत मोदी सरकार के कामकाज की चर्चा करते हुए विपक्ष पर हमला बोल दिया। उन्होंने बिहार के जनता की प्रशंसा करते हुए कहा आज भारत देश जितना विकसित हुआ है उसकी नींव बिहार के लोगों ने ही रखी है। उन्होंने रैली के विरोध में थाली पीटने वाले आरजेडी पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि देर से ही सही उन्होंने मोदी जी की अपील को स्वीकार कर ली। उन्होंने कोरोना संकट में केंद्र सरकार और राज्य सरकार की ओर से दिए गए मदद का भी हिसाब दिया।

दुनिया को बिहार ने दिया लोकतंत्र
अमित शाह ने कहा- बिहार की भूमि से सबसे पहले दुनिया को लोकतंत्र का अनुभव हुआ। महान मगध साम्राज्य की नींव डाली गई। जिसने अफगानिस्तान से लंका तक अखंड भारत के सपने को साकार किया बुध, महावीर, चंद्रगुप्त और चाणक्य की इस भूमि ने इस भारत का नेतृत्व किया है। जब कभी भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों से खिलावड़ हुआ, बिहार से ही उसके विनाश का विगुल शुरू किया गया। जब इंदिरा गांधी ने आपातकाल से लोकतंत्र का गला घोंटा तो बिहार ने ही जेपी के नेतृत्व में आंदोलन करके लोकतंत्र को बहाल किया। राममनोहर लोहिया जी और जार्ज साहब की भी यही कर्मक्षेत्र है। बिहार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ सदैव लड़ाई लड़ी और सामाजिक न्याय को बढ़ावा दिया है।

उन्होंने कहा थाली बजाकर कुछ लोगों ने रैली का स्वागत किया। मुझे अच्छा लगा कि उन्होंने कोरोना के खिलाफ मोदी जी के इस अपील को स्वीकार किया । कुछ लोगों ने इसे बिहार की चुनावी सभा कहा। उन्होंने आगे कहा कि मैं सबसे कहना चाहता हूं कि इसका चुनाव से कोई संबंध नहीं है।भाजपा जनसंवाद में विश्वास रखती है।

पूर्वी भारत से मुंह मोड़ा
अमित शाह ने कहा- आजादी के बाद सरकारों ने पूर्वी भारत से मुंह मोड़ लिया। इसलिए पूर्वी भारत पिछड़ गया है। मोदी जी ने छह साल में करोड़ों गरीबों के जीवन में प्रकाश लाने की कोशिश की है। इसका सबसे ज्यादा फायदा बिहार, बंगाल, उड़ीसा और उत्तर पूर्व के लोगों को हुआ है। जब मोदी जी ने बोला कि हमारी सरकार गरीबों के लिए काम करेगी तब कुछ लोगों ने मोदी जी की तुलना इंदिरा गांधी से करते हुए कहा कि इंदिरा जी भी गरीबी हटाने की बात करती थी। इंदिरा गांधी तो चली गईं लेकिन गरीबी वहीं रह गई। उन्हें मालूम नहीं था यह मोदी जी हैं , जो भी बोलते हैं वो करते हैं।

लालटेन का जमाना चला गया
अमित शाह ने कहा- पीएम मोदी की सरकार ने 50 करोड़ लोगों को आय़ुष्मान योजना भारत के अंतर्गत मुफ्त बीमा दिया। एक करोड़ लोग मुफ्त में अपना इलाज करा चुके हैं। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 8 करोड़ महिलाओं को मुफ्त सिलेंडर मिला। हर दिन उनके शरीर में 400 सिगरेट के बराबर धुआं जाता था और बीमारी का शिकार होती थीं। 2.5 करोड़ लोगों को सौभाग्य योजना के तहत बिजली पहुंचाया गया। आजादी के 70 वर्षों बाद भी 20 हजार लोगों के घर में अंधेरा था। लालटेन जलानी पड़ती थी। लालटेन का जमाना चला गया यह एलईडी का जमाना है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: