ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक

कोरोना वायरस से संक्रमित पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की आर्मी अस्पताल में ब्रेन सर्जरी हुई है। जानकारी के मुताबिक ब्रेन में बने खून के एक थक्के को हटाने के लिए यह सर्जरी की गई है।आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने बताया कि सर्जरी के बाद से उनकी हालत में कोई सुधार नहीं दिख रहा है और अभी उनकी हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। डॉक्टरों की एक टीम उनकी सेहत पर नजर रखे हुए है। सर्जरी से पहले 84 साल के मुखर्जी का कोरोना वायरस टेस्ट भी पॉजिटिव पाया गया था।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को दिल्ली कैंट के आर्मी हॉस्पिटल में 10 अगस्त को 12 बजे करीब गंभीर हालत में भर्ती किया गया था। उनकी चिकित्सकीय जांच में उनके दिमाग में बड़ा सा थक्का नजर आया जिसके लिए उनकी आपातकालीन सर्जरी की गई। सर्जरी के बाद उनकी हालत नाजुक बनी हुई है।

मंगलवार शाम तक ताब्यात में कोई सुधार नहीं

मंगलवार शाम को आर्मी रिसर्च ऐंड रेफरल अस्पताल ने बयान जारी कर जानकारी दी कि उनकी हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। बयान में कहा गया, ‘ब्रेन सर्जरी के बाद से उनकी हालत में कोई सुधार नहीं दिखा है। वह अब भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।’

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हॉस्पिटल पहुंचकर पूर्व राष्ट्रपति के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली थी। राजनाथ सिंह करीब 20 मिनट तक हॉस्पिटल में थे। वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेताओं ने भी मुखर्जी के जल्द ठीक होने की कामना की थी। कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया कि हम पूर्व राष्ट्रपति की जल्दी ही कोरोना से ठीक होने की कामना करते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: