1 जुलाई..डॉक्टर्स डे

प्रत्येक वर्ष 1 जुलाई को भारत के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. बिधान चन्द्र रॉय को श्रद्धांजलि और सम्मान देने के लिए डॉक्टर डे मनाया जाता है। डॉ॰ बिधान चंद्र राय का जन्म 1 जुलाई 1882 को पटना (बिहार) जिले के बांकीपुर गांव में हुआ था.

डॉक्टर दिवस की स्थापना 1991 में भारत सरकार द्वारा की गई थी।
डॉक्टर रॉय ने 1911 में भारत में चिकित्सकीय जीवन की शुरुआत की। इसके बाद वे कोलकाता मेडिकल कॉलेज में व्याख्याता बनें. उन्होंने वहां से वे कैंपबैल मेडिकल स्कूल और फिर कारमिकेल मेडिकल कॉलेज गए।

उनकी ख्याति एक शिक्षक एवं चिकित्सक के रूप में नहीं, बल्कि स्वतंत्रता सेनानी के रूप में महात्मा गांधी के साथ असहयोग आंदोलन में शामिल होने के कारण बढ़ी गई थी।

The Gazette Today India - 1 जुलाई..डॉक्टर्स डे


आपको बता दें डॉ.रॉय ने पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री का पद संभाला था.वे पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री का दायित्व बड़ी ही कुशलतापूर्वक निभाए थे. 4 फरवरी 1961 में उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया।

डॉ. रॉय ने 80 वर्ष की आयु में 1962 में अपने जन्मदिवस के दिन ही 1 जुलाई को उनकी मृत्यु भी हुई थी । डॉ. राय को सम्मान और श्रद्धांजलि देने के लिये वर्ष 1976 में उनके नाम पर डॉ. बी.सी. रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार की शुरुआत हुई। 

अन्य देशों में डॉक्टर्स डे अलग- अलग दिन मनाया जाता है-

अमेरिका में 30 मार्च डॉक्टर्स डे को मनाया जाता है और ईरान में इसे 23 अगस्त को मनाया जाता है। डॉक्टर दिवस को भी लाल रंग से दर्शाया जाता है क्योंकि ये प्रेम, दान, बलिदान, वीरता और साहस का प्रतीक माना जाता है, ये सब चिकित्सा पेशे का पर्याय है। कई देशों में इस दिन सरकारी छुट्टी भी रहती है। ब्राजील में 18 अक्टूबर को डॉक्टर्स डे मनाया जाता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: