GDP के गिरावट से आए मुसीबतें क्या इसका सामना करने के लिए भारत सरकार

विश्व बैंक से लेकर बाक़ी एजेंसियों ने माना कि कोरोना महामारी से परे की GDP में प्रभाव और सरकार ने भी इस बात को मानने से पीछे नहीं हटे मुख्य अधिकारी सलाहकारों ने गुरुवार को इस चिंताजनक मुद्दे पर अपना नज़र डालते हुए कहा आर्थिक विकास रिकवरी पर निर्णय करेंगे और रिकवरी चालू वित् वर्ष की दूसरी थमा ही मैं भी हो सकता है यह अगले साल भी हो सब होने की संभावनाएं हैं इसके साथ उत्पादन में भी कमी आ सकती है।

विश्व बैंक अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विभिन्न राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के बाद अब सरकार ने भी यह बात मानने से इनकार नहीं किया और इस चिंताजनक मुद्दे पर अपना नज़र डाला

सुब्रमण्यम का कहना है 2020 के अप्रैल में चालू वित् वर्ष के लिए 15-2 फ़ीसद विकास दर का अनुमान लगाया रेटिंग को कम करने के लिए मामले में आर्थिक सलाहकारों का कहना है कि भारत की इन्वेस्टमेंट ग्रेट को बराबर रखा है सलाहकारों का ये भी कहना है कि रेटिंग एजेंसी और परवेज़और परवेज़ ने अगले साल के लिए क्रमशः 8.5 फ़ीसदी और 9.5 फ़ीसदी का विकास की स्थिति का अनुमान लगाया गया यह भारत की चिंताजनक स्थिति का एक अच्छा ख़बर।

Leave a Reply

%d bloggers like this: