ब्रिटेन से भारत ने किया अनुरोध, भगोड़ा कारोबारी विजय माल्‍या को न दें शरण-

भगौड़े विजय माल्या को भारत लाने के लिए सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है। इस संदर्भ में भारत ने ब्रिटेन से अनुरोध किया है कि विजय माल्या को ब्रिटेन में शरण न दें।

आपको बता दें कि विजय माल्या पर भारतीय बैंकों से 9,000 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का आरोप है. हालांकि, वह अपने ऊपर लगे आरोपों से इंकार करता रहा है. फिलहाल वह जमानत पर है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा, ‘‘हम उसके जल्द प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटिश पक्ष के साथ सम्पर्क में हैं। हमने ब्रिटिश पक्ष से यह भी अनुरोध किया है कि यदि उसके द्वारा शरण के लिए कोई अनुरोध किया जाता है तो उस पर विचार नहीं किया जाए क्योंकि भारत में उसके उत्पीड़न का कोई आधार नहीं है।’’


साथ ही आपको बताते चलें कि विजय माल्या 2016 से ही ब्रिटेन में रह रहा है।सूत्रानुसार विजय माल्या ने इस आधार पर ब्रिटेन में शरण मांगी है कि अगर उसे भारत में प्रत्यर्पित किया जाता है, तो यहां उसे यातना दी जाएगी.

इससे पहले ब्रिटेन के अधिकारियों ने कहा कि विजय माल्या को हाल-फिलहाल में भारत वापस नहीं भेजा जाएगा. कुछ गोपनीय मसले हैं जिन्हें विजय माल्या के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया से पहले सुलझाना आवश्यक है. ब्रिटेन के कानून के अंतर्गत जब तक कानूनी मसले नहीं सुलझेंगे तब तक विजय माल्या का प्रत्यर्पण नहीं हो सकता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: