विश्व पर्यावरण दिवस…5 जून

विश्व पर्यावरण दिवस पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए पूरे विश्व में मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने की घोषणा सर्वप्रथम संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के प्रति वैश्विक स्तर पर राजनीतिक और सामाजिक जागरूकता लाने के लिए वर्ष 1972 में की थी।

पहली बार संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा सन 1972 में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया. 5 जून 1974 को पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया.पर्यावरण दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना है।

प्रत्येक वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर दुन‍िया भर के देश में आधिकारिक समारोह आयोजित की जाती है। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की वजह से इस वर्ष लाखों लोग डिजिटल रूप से विश्व पर्यावरण दिवस मनाएंगे.


आपको बता दें सर्वप्रथम स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में 1972 में पर्यावरण दिवस समारोह आयोजित हुई थी।इस सम्मेलन में 119 देशों ने भाग लिया था।

तभी से प्रत्येक वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। आपको बता दें कि हर साल पर्यावरण दिवस पर एक थीम रखी जाती है।
वर्ष 2020 का थीम है..’प्रकृति के लिए समय’
लॉकडाउन की वजह से प्रदूषण घटा है। वायु पहले की अपेक्षा काफी शुध्द हुई है। नदियां का पानी भी काफी हद तक स्वच्छ हुआ हैं।

हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए क्या-क्या करना चाहिए..


पानी की बर्बादी बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। जहाँ तक हो सके आपको साईकल का प्रयोग करना चाहिए क्योंकि गाड़ियों से निकलने वाला धुंआ हमारे पर्यावरण को नुकसान पहुंचा सकता है। ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने चाहिए। कमरे से निकलते समय पंखा, लाइट, कूलर और एसी बंद कर देना चाहिए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: