जाने कौन से थे मोदी के वो चार दांव जिससे चीन हुआ चित्त

बीते कुछ हफ्तों से भारत और चीन के बीच LAC पर तनातनी अब नरम पड़ती जा रही है जिसका कारण है मोदी का चौतरफा दांव। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन को उसी भाषा में जवाब देने के कारण अब चीन के तेवर नरम पड़ रहे हैं, जिससे अब वह पीछे हट रहा है।

मोदी का दांव नंबर 1 :- अमेरिका से बातचीत में उठाया मुद्दा

The Gazette Today India - जाने कौन से थे मोदी के वो चार दांव जिससे चीन हुआ चित्त

वर्तमान स्थिति में चीन का सबसे बड़ा दुश्मन अमेरिका बना हुआ है। इस बीच अमेरिका ने भी चीन और भारत के बीच हुई इस गर्मा गर्मी में मध्यस्थता की पेशकश की थी।भारत और अमेरिका के बीच हाल ही में हुई बातचीत में यह मुद्दा उठाया जाता जिसके कारण चीन को यह भय था कि कहीं अमेरिका अपनी दुश्मनी निकालने के लिए भारत का साथ ना दे जिसके कारण चीन को अपना रुख नरम करना पड़ा।

मोदी का दांव नंबर 2 :- चीन को उसी की भाषा में दिया जवाब

चीन की सेना ने लद्दाख के क्षेत्र में अपनी घुसपैठ बढ़ाते हुए सीमा पर 5000 से अधिक सैनिकों की तैनाती कर दी जिसका जवाब देते हुए भारत में भी कड़ा रुख अपनाया और सैनिकों की तैनाती शुरू की।भारत सरकार ने यह बयान दिया कि यदि कूटनीति और बातचीत से मसले हल नहीं होते तो अन्य विकल्प भी मौजूद है भारत के इस कड़े बयान से चीन यह समझ गया कि भारत झुकने वाला नहीं है।

मोदी का दांव नंबर 3 :-अपने फैसले पर अडिग

चीन ने लद्दाख क्षेत्र में अपनी उपस्थिति बढ़ा दी और उसने भारत पर दबाव बनाने की कोशिश की कि भारत लद्दाख और LAC के क्षेत्र पर निर्माण कार्यों को रोक दे लेकिन भारत नें अपना रुख साफ करते हुए कहा कि वह निर्माण कार्यों को नहीं रोकेगा और ना ही किसी भी तरह से दबाव में आएगा। चीन को भारत से मिला है यह जवाब बहुत ही आक्रमक था जिसके बाद ही चीन से लगातार बयान आने शुरू हो गए जिनमें अधिक जोर भारत से बातचीत कर मसले का हल निकालने पर जोर दिया गया।

मोदी का दांव नंबर 4 :- पेश की लीड फ्रॉम द फ्रंट की मिसाल

The Gazette Today India - जाने कौन से थे मोदी के वो चार दांव जिससे चीन हुआ चित्त

जैसे-जैसे चीन की दखलअंदाजी बढ़ते जा रही थी वैसे वैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक का दौर तेज कर दिया। नरेंद्र मोदी ने उसी टीम को इस मसले को देखने के लिए तैनात किया जिसमें डोकलाम विवाद के दौरान कार्यभार संभाला था मोदी का इस प्रकार आगे से लीड करना चीन को घुटने पर आने के लिए मजबूर कर दिया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: