BPCL के निजीकरण हेतु मोदी सरकार ने बढ़ाई बोली की समयसीमा, जानें रुचि पत्र जमा करने की अंतिम तिथि

विश्वव्यापी कोरोना संकट की वजह से भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के निजीकरण के लिए बोली की समयसीमा एक बार फिर बढ़ा दी गई है. बीपीसीएल में हिस्‍सेदारी के लिए रुचि पत्र यानी एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट (EoI) जमा करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई है।

बीते साल मिली थी मंजूरी

दरअसल, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले साल नवंबर में बीपीसीएल में सरकार की पूरी 52.98 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री को मंजूरी दे दी थी। इसके बाद सात मार्च को हिस्सेदारी खरीदने में रुचि रखने वालों से रुचि पत्र (EoI) मांगे गए थे। EoI जमा करने की अंतिम तिथि दो मई थी, लेकिन इसे बढ़ाकर 13 जून तक कर दिया गया. ताजा घटनाक्रम में एक बार फिर इस समयसीमा को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है।

न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (डीआईपीएएम) ने कहा, ‘‘इच्छुक बोलीदाताओं के अनुरोधों और कोविड-19 से पैदा हुईं मौजूदा स्थिति के मद्देनजर रुचि पत्र जमा करने की अंतिम तिथि को 31 जुलाई, 2020 तक बढ़ा दिया गया है’’

आखिर क्‍या है इसके मायने ?

मतलब ये कि 31 जुलाई तक बीपीसीएल में हिस्‍सेदारी खरीदने के लिए निवेशकों को रुचि पत्र देना होगा। इस पत्र के जरिए ये मालूम होता है कि कौन-कौन सी कंपनियां या निवेशक बोली लगाने को इच्‍छुक हैं. यही वजह है कि जब भी कोई बिक्री होती है तो सबसे पहले रुचि पत्र मंगाए जाते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: