ना ड्रोन है,ना हेलिकॉप्टर…यह है ऑक्टोकॉप्टर

चीनी एंटरप्रेन्योर डेली झाओ ने ड्रोन की मदद से यह मिनी हेलिकॉप्टर बनाया हैं और नाम दिया है ऑक्टोकॉप्टर।यह मिनी हेलिकॉप्टर 120 किलोग्राम तक का वजन उठाकर हवा में उड़ान भरने में सक्षम है।यानी की इसमे 2 लोग सफर कर सकते है।इसमें चार मोटर लगे हैं। हर मोटर 19 हजार वॉट पावर देता है, जिससे ये मिनी हेलिकॉप्टर उड़ता है।ये पूरा ऑक्टोकॉप्टर 170 सेंटीमीटर यानी 5.57 फीट लंबा है।यह उड़ते समय 150 किलोग्राम का निगेटिव लिफ्ट पैदा करता है। यानी हवा में उठते समय इसका खुद का वजन 150 किलोग्राम तक पहुंच जाता है। इसे बनाने में कार्बन फाइबर का उपयोग किया गया है।इसमें चारों तरफ ऐसे इलेक्ट्रिक डिवाइस लगे हैं, जो इसकी दिशा, गति और ऊंचाई का निर्धारण करते हैं। साथ ही साथ मोटर्स को चलाने में मदद करते हैं और यह दिशा निर्धारण का काम खुद करता है।

क्या कहते है ऑक्टोकॉप्टर के आविष्कारक

आप को बता दे कि डेली झाओ ने बताया हैं कि इसके सारे पार्ट्स चीनी ही हैं।आपको कहीं जाना है तो इसमें लगे जीपीएस सिस्टम से आप रास्ता पता करके जा सकते हैं,आप इसमें गंतव्य स्थान फिक्स कर दीजिए, उसके बाद ये आपको खुद ही वहां तक पहुंचा देगा, बस आपको इसे उड़ाना होगा।झाओ कहते हैं कि इस अविष्कार से पुलिस पेट्रोललींग मे,आपदा पीड़ित स्थिति का जाएजा लेने में एवं बचाव कार्य में सक्रियता लाने में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: