कावासाकी रोग कैसे कर रहा है.. बच्चों को प्रभावित-

कोरोना वायरस का कहर थम नहीं रहा है लोग इस बीमारी से बचने के लिए सावधानी बरत रहे हैं सामाजिक दूर का पालन कर रहे हैं ,मास्क व सेनिटाइजर का प्रयोग कर रहे हैं । कुछ समय पहले ये ख़बर आयी थी कि कोरोना वायरस का शिकार ज्यादातर बुजुर्ग हो रहे हैं । ऐसे में एक और बड़ी बीमारी ने भारत में दस्तक दे दी है . जिसका नाम है कावासाकी यह बीमारी बच्चों को सबसे ज्यादा प्रभावित कर रहा है।


सूत्रानुसार चेन्नई के एक हॉस्पिटल में एक आठ वर्षीय बच्चा कोरोना वायरस से जुड़े इस कावासाकी रोग से ग्रसित पाया गया है। इस बच्चे का चेन्नई के कांची कामकोटि चाइल्ड्स ट्रस्ट अस्पताल में इलाज़ चल रहा था। उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया, इस बच्चे के शरीर में टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम और कावासाकी बीमारी के लक्षण पाए गए थे ।


अस्पताल के रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित बच्चे की अच्छे तरीके से देखभाल की गई और वह लगभग 15 दिनों बाद ठीक हो गया ।
जाने क्या है ये कावासाकी रोग-
इस बीमारी में रक्तवाहिनी की दीवारों में सूजन हो जाती है। जिस वजह से हृदय तक खून पहुंचाने वाली धमनियों को कमजोर हो जाती हैं।
इस रोग के लक्षण हैं तेज़ बुखार, आँखे लाल हो जाना, मुँह व गले में सूजन हो जाना ,त्वचा पर लाल या पीले चकत्ते पड़ना,पेट संबंधित समस्या होना, सूजन आदि का होना ।

कोरोना वायरस और कावासाकी का क्या है संबंध-
विशेषज्ञों की मानें तो उनके अनुसार कोरोना वायरस का हल्का वर्जन है कावासाकी रोग ।
हालांकि अभी तक स्पष्ट रूप से कहा नहीं जा सकता है ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: