हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण: विश्व स्वास्थ्य संगठन

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस संभावना को स्वीकार किया है कि जानलेवा कोरोना वायरस हवा के माध्यम से भी फैल सकता है। दुनिया भर के 200 से अधिक वैज्ञानिक को ने अपने शोध के द्वारा विश्व स्वास्थ्य संगठन को इस बात से अवगत कराया है और साथ ही इसको लेकर आवश्यक कदम उठाने की अपील की है।

The Gazette Today India - हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण: विश्व स्वास्थ्य संगठन
प्रतीकात्मक फोटो

वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया कि कोरोना वायरस हवा के माध्यम से फैलता है जिसके बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इसे गंभीरता से लिया है। हालांकि वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा कुछ विशेष परिस्थितियों में ही हो सकता है।

एक जर्नल में प्रकाशित ओपन लेटर में ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के 2 वैज्ञानिकों ने अपने शोध के द्वारा बताया कि यह वायरस सांस छोड़ने, बात करने और खास में पर हवा में फैल सकता है। डब्ल्यूएचओ लंबे समय से इस बात को खारिज कर रहा था लेकिन जब दुनिया भर के वैज्ञानिकों ने अपने शोध के आधार पर डब्ल्यूएचओ को इस बात से आगाह किया तो वह भी इस विषय पर गंभीरता से विचार कर रहा है।

The Gazette Today India - हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण: विश्व स्वास्थ्य संगठन
प्रतीकात्मक फोटो

इससे पहले डब्ल्यूएचओ या कहता था, कि वायरस से संक्रमित व्यक्ति को जब पहली बार सांस लेने में सहायक मशीन पर रखा जाता है तब ऐसे में वायरस के फैलने का खतरा होता है। लेकिन अब डब्ल्यूएचओ का मानना है कि यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के साथ बात करने या उसके श्वास लेने और छोड़ने से भी फैल सकता है। मरीज से किसी स्वस्थ व्यक्ति में फैलने की संभावना इंडोर अर्थात बंद कमरे में ज्यादा है।

The Gazette Today India - हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण: विश्व स्वास्थ्य संगठन
प्रतीकात्मक फोटो

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने माना कि बंद कमरे या कम हवादार वाले क्षेत्र में इस वायरस के फैलने की प्रक्रिया काफी ज्यादा तेज होती है ऐसे स्थानों पर वायरस के कारण हवा में काफी देर तक मौजूद रहते हैं जिससे उस क्षेत्र में आने वाले अन्य व्यक्तियों में फैल सकता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: