सरकार ने निर्धारित किया कोरोना जांच की शुल्क.. 2500 रुपए से ज्यादा नहीं वसूल पाएंगे निजी लैब-

कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है। जिस वजह से आम नागरिकों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वहीं सरकार ने कोरोना जांच शुल्क 2500 रुपए तय की है अब निजी लैब 2500 से ज्यादा शुल्क नहीं वसूल पाएंगे। आपको बता दें इसके पहले कोरोना जांच के लिए 4500 रुपए देने पड़ रहे थे।


अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने जानकारी देते हुए कहा कि प्राइवेट लैब जो सैंपल खुद एकत्र करेंगी, वे जांच फीस के तौर पर 2000 रुपये से ज्यादा नहीं ले सकेंगी। वहीं सरकारी अस्पताल और निजी अस्पतालों द्वारा जो सैंपल प्राइवेट लैब में जांच के लिए भेजे जाएंगे, उनका शुल्क वह दो हजार रुपये ही ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि प्राइवेट लैब अगर कोरोना जांच के लिए 2500 रुपये से अधिक लेती हैं तो उनपर एपिडेमिक डिसीज ऐक्ट 1897 एवं उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 विनियमावली-2020 के प्रावधानों के अन्तर्गत कार्रवाई की जाएगी।

साथ ही आपको बताते चलें उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा होता नजर आ रहा है। यहां गुरुवार को 630 नए कोरोना मामले सामने आए हैं। इसके बाद अब राज्य में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 15785 हो गई है। 23 लोगों की मृत्यु भी हुई है. वहीं, मरने वालों की संख्या 488 हो चुकी है। राज्य में अब तकरीबन 61 फीसदी मरीज (9,638) ठीक हो चुके हैं।अब कुल 5659 एक्टिव केस हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: