सर्वोच्च न्यायालय ने शिक्षामित्रों की याचिका खारिज की … जानिए क्या है पूरा मामला-

सुप्रीम कोर्ट की तरफ से उत्तर प्रदेश सरकार को बड़ी राहत मिली है। सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को शिक्षामित्रों की याचिका को ख़ारिज करते हुए 69 हज़ार प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती का रास्ता साफ कर दिया है।
याचिकाकर्ताओं की दलील सुनकर ही, तीन जजों की बेंच (जस्टिस उदय उमेश ललित, जस्टिस शान्तनुगौडार और जस्टिस विनीत शरण) ने ख़ारिज किया।


सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता तथा बेसिक शिक्षा बोर्ड की ओर से राकेश मिश्रा को कुछ बोलने की जरूरत ही नहीं पड़ी।
मुकुल रोहतगी ने शिक्षामित्रों कि ओर से दलील पेश करते हुए कहा कि सिंगल जज बेंच ने हमारे दावे के समर्थन में निर्णय दिया था लेकिन , डिवीजन में हमारा मत पूरी तरह से नहीं सुना गया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: