सीबीएसई (CBSE) शेष परीक्षाएं रद्द करने पर विचार करे – सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सीबीएसई (CBSE) से कहा कि वह 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षा के पेपर्स को रद्द करने और इंटरनल असेसमेंट के आधार पर अंक देने पर विचार करे।

जस्टिस ए.एम. खानविलकर की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच ने बोर्ड को इस विचार पर मंगलवार तक सूचित करने को कहा है।

कोर्ट सीबीएसई स्टूडेंट के एक अभिभावक अमित बाथला की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। याचिका में कहा गया था कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए परीक्षा करवाना ठीक नहीं है। बता दें कि सीबीएसई को बचे हुए पेपर्स 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच करवाना है।

 सीबीएसई फिलहाल 12वीं के 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षा ले रहा है। वहीं नॉ़र्थ ईस्ट दिल्ली में दंगों की वजह से रद्द हुईं 10वीं की परीक्षाएं होंगी। सीबीएसई की परीक्षाएं देशभर में 15000 परीक्षा केंद्रों में आयोजित होनी हैं। 

अभिभावक द्वारा याचिका में यह भी कहा गया है कि सीबीएसई की परीक्षाएं जुलाई में होनी हैं और एम्स के आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 महामारी उस समय पीक पर होगी। इसलिए याचिकाकर्ताओं ने प्रार्थना की है कि जुलाई में होने वाली सीबीएसई की बची हुई परीक्षाओं को रद्द कर दिया जाए और इंटरनल असेस्मेंट के आधार पर स्टूडेंट्स का रिजल्ट घोषित किया जाए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: