विद्यार्थियों को प्रमोट करने के संदर्भ में एकेटीयू ने शासन को भेजा प्रस्ताव-

कोरोना वायरस का प्रकोप पूरे देश में तेज़ी से बढ़ रहा है। इस वायरस से संक्रमित होने वाले व्यक्तियों की संख्या में लगातार वृद्धि होती जा रही है। आपको बता दें कि इसी के चलते डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी ने शासन को अपने तक़रीबन 2 लाख विद्यार्थियों को प्रमोट करने का प्रस्ताव भेजा है। इसमें विद्यार्थियों को प्रमोट करने के कुछ फॉर्मूले भी सुझाये गए हैं। हालांकि शासन ही इस बात पर अंतिम फैसला लेगी।

वहीं उत्तर प्रदेश में विवि से संबद्ध 750 कॉलेजों में इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फॉर्मेसी और आर्किटेक्चर के करीब 2.25 लाख विद्यार्थी हैं। यूजीसी और एआईसीटीई ने स्थानीय स्तर पर कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों को प्रमोट करने की सहमति दी थी।

इस क्रम में एकेटीयू पहले अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों की परीक्षा करवाने की कोशिश कर रहा था। पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामलों में वृद्धि होने की वजह से विवि से संबद्ध कई बड़े संस्थानों को क्वारंटीन सेंटर बनने से परीक्षा केंद्र बनाने में समस्याएं आ रही थी।

इन्ही सब कारणों को मद्देनजर रखते हुए विवि ने प्रमोट करने का प्रस्ताव भेजा है। आपको बता दें कि इस दौरान कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रमोट करने का प्रस्ताव भेजा गया है, लेकिन हम परीक्षा के लिए भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि शासन के फैसले पर ही सब निर्भर है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: