जानें..किस राज्य ने लिया दसवीं के छात्रों को बिना परीक्षा पास करने का निर्णय-

कोरोना का कहर हर जगह छाया हुआ है। जिस वजह से देश में लॉकडाउन चल रहा है। आपको बता दें कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को एक अहम फैसला लिया है उन्होंने कहा कि दसवीं कक्षा के सभी विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के पास किया जाएगा।

उन्होंने बोला कोरोना संकटकाल में परीक्षा कराना सम्भव नहीं है।एक आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया, ‘‘मुख्यमंत्री ने दसवीं कक्षा के सभी छात्रों को आंतरिक आकलन अंक के आधार पर उन्हें ग्रेड देकर अगली कक्षा में प्रोन्नत करने का फैसला किया है.” विज्ञप्ति में यह भी बताया गया कि सरकार निकट भविष्य में स्थिति के आधार पर स्नातक, परास्नातक की परीक्षाएं आयोजित कराने पर फैसला करेगी.

तेलंगाना राज्य में दसवीं कक्षा के लगभग 5.35 लाख विद्यार्थी हैं.आपको बताते चलें कि इसके पहले तेलंगाना राज्य सरकार ने 10 वीं के परीक्षा की तारीख़ का ऐलान किया था ये परीक्षाएं 8 जून से 5 जुलाई तक होनी थीं। लेकिन सोमवार को मुख्यमंत्री राव ने कक्षा दसवीं की बची हुई परीक्षाओं को आयोजित करने को लेकर एक रिव्यू मीटिंग ली. जिसमें परीक्षा आयोजित न करने का फैसला लिया गया. इससे पहले तेलंगाना सरकार ने राज्य के पहली से नौवीं कक्षा के छात्रों को बिना परीक्षा लिए पास करने का फैसला लिया था.


तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव ने कहा कि 10वीं कक्षा के सभी विद्यार्थियों को इस वर्ष बिना परीक्षा लिए ही पास कर दिया जाएगा. सरकार के लिए इस वैश्विक महामारी कोरोना के बीच परीक्षा आयोजित कराना सम्भव नहीं लग रहा है । 10वीं के सभी विद्यार्थियों को इंटरनल असेसमेंट के आधार पर आकलन किया जाएगा. तेलंगाना में दसवीं के कुल 5,34,903विद्यार्थी हैं. तेलंगाना में दसवीं की परीक्षा 19 मार्च से शुरू हुई थी. लॉकडाउन से पहले तीन परीक्षाएं हो चुकीं थी. शेष रह गई परीक्षाएं लॉकडाउन के बाद कराना सुनिश्चित किया गया था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: