भारत-चीन के बीच अब व्यापारिक तनाव अपने चरम पर, चीन – हांगकांग में रोका गया भारतीय निर्यातकों का माल

भारत-चीन सीमा पर जारी तनाव की लपटें अब व्यापार तक भी पहुंच चुकी है। चीन और हांगकांग के कस्टम विभाग के अधिकारियों ने भारतीय निर्यातकों के माल को रोक दिया है। इस संबंध में भारतीय निर्यातक संघों ने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय को पत्र लिखकर इस बात की जानकारी दी कि चीन और हांगकांग में कस्टम अधिकारी भारत के एक्सपोर्ट कंसाइनमेंट को रोक रहे हैं।

निर्यातक संघों ने पत्र में लिखा कि चीन और हांगकांग के कस्टम अधिकारी सभी आयातित माल की भौतिक जांच कर रहे हैं जिससे माल को क्लीयरेंस मिलने में काफी देरी हो रही है और आयात की लागत बढ़ती जा रही है जिससे उन्हें नुकसान का सामना करना पड़ रहा है।

The Gazette Today India - भारत-चीन के बीच अब व्यापारिक तनाव अपने चरम पर, चीन - हांगकांग में रोका गया भारतीय निर्यातकों का माल
गेटी इमेज

भारत में भी रोके गए थे चीन के कंटेनर

बता दें, कि हाल के दिनों में चेन्नई और मुंबई के पोर्ट में चीन और हांगकांग से आने वाले कंटेनर ओं का जमावड़ा लग गया है। निर्यातक कौन है वाणिज्य मंत्रालय से अपने पत्र में यह अनुरोध किया कि केंद्रीय प्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (CBIC) के सामने इस मसले को उठाया जाए और यदि इसे रोकने के लिए कोई अधिकारी निर्देश नहीं है तो CBIC इसके बारे में आधिकारिक इंकार जारी करें ताकि इसकी जानकारी चीन और हांगकांग के आयातकों को दी जा सके और वे उपयुक्त रूप से मसले को अपनी सीमा शुल्क विभाग के सामने रख सकें।

The Gazette Today India - भारत-चीन के बीच अब व्यापारिक तनाव अपने चरम पर, चीन - हांगकांग में रोका गया भारतीय निर्यातकों का माल
गेटी इमेज

हालांकि वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि कुछ कंटेनर को किसी खुफिया सूचना या जोखिम प्रबंधन के लिए रोके जाते हैं यह एक रूटीन चेकअप है इसका सीमा पर होने वाले विवाद से कोई लेना-देना नहीं।

ज्ञात हो कि भारत की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री मुख्यतः चीन से आने वाले आयात पर ही निर्भर है। ऐसे समय में दोनों देशों का एक दूसरे के कंसाइनमेंट को रोकना व्यापार के लिए खतरनाक साबित हो रहा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: