कोरोना के कारण म्यूचुअल फंड में नुकसान, जाने क्या जारी रखना चाहिए SIP

कोरोना वायरस का कहर मात्र मानव के स्वास्थ्य के लिए ही हानिकारक नहीं है बल्कि इसका असर शेयर बाजार पर भी पढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। बाजार में आई गिरावट के कारण म्यूचुअल फंड निवेशक भी घबराए हुए हैं. बता दें कि निवेशकों के मन में सवाल उठ रहा है कि क्या म्यूचुअल फंड में (SIP) निवेश को बंद कर देना चाहिए. वही इस दौरान निवेशक सबसे ज्यादा इस बात से डरे हैं कि आगे अगर और बाजार और गिरा तो फिर उन्हें बड़ा नुकसान हो सकता है।

गौरतलब है कि इस समय जब निवेशक अपने म्यूचुअल फंड (SIP) पोर्टफोलियो को देखते हैं तो उन्हें केवल नुकसान ही दिखाई देता है. ज्यादातर म्यूचुअल फंड स्कीमों पर नजर डालें तो पिछले 5 साल के दौरान अंडर परफॉर्म यानी अनुमान से कम रिटर्न दिया है. कोरोना की वजह से रफ्तार और धीमी पड़ गई है.

The Gazette Today India - कोरोना के कारण म्यूचुअल फंड में नुकसान, जाने क्या जारी रखना चाहिए SIP

एक्सपर्ट्स की मानें तो यही वो वक्त है जब म्यूचुअल फंड निवेशकों को अपना पोर्टफोलियो देखकर घबराना नहीं चाहिए. इंडिया टुडे हिंदी के एडिटर अंशुमान तिवारी ने बताया कि यह वो वक्त है जब आप बेहतर फंड में SIP शुरू भी कर सकते हैं. क्योंकि जैसे ही शेयर बाजार में तेजी आएगी, म्यूचुअल फंड निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलेगा.

अंशुमान तिवारी के मुताबिक जनवरी 2020 में शेयर बाजार अपने उच्चतम स्तर पर था, लेकिन मौजूदा समय में कोरोना से गिरावट देखने को मिल रही है. ऐसे में लंबी अवधि के निवेशकों को तो बिल्कुल नहीं घबराना चाहिए, उन्हें बस जिस लक्ष्य के लिए निवेश शुरू किया है उसे ध्यान में रखते हुए SIP जारी रखनी चाहिए.

साथ ही आपको बताते चलें कि यही नहीं, एक्सपर्ट के मुताबिक यह वो वक्त है जब सही म्यूचुअल फंड का चुनाव कर लॉन्ग टर्म का निवेश शुरू भी किया जा सकता है. इसके बड़े फायदे हैं. क्योंकि जब शेयर की कीमत कम रहती है तो म्यूचुअल फंड में निवेश पर ग्राहकों को ज्यादा यूनिट मिलते हैं.

Leave a Reply

%d bloggers like this: