म्यूचुअल फंड्स के पास मौजूद सोना और चांदी बेचने की समयसीमा में ढील: सेबी

सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया ने एक्सचेंज ट्रेडेड कमोडिटी डेरिवेटिव्स के द्वारा किए गए निवेश के निपटान के लिए म्यूचुअल फंड्स के पास मौजूद सोना और चांदी बेचने की समयसीमा में ढील दी है. बता दें कि सेबी ने एक्सचेंज ट्रेडेड कमोडिटी डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान के लिए म्यूचुअल फंड के द्वारा भौतिक संपत्तियों की बिक्री से संबंधित अपने लगभग एक साल पुराने निर्देशों को संशोधित किया है.

इस संदर्भ में सेबी ने एक परिपत्र में कहा कि भौतिक रूप से उपस्थित सोने और चांदी की बिक्री करने की समय सीमा अब 180 दिन है. अन्य सामानों के लिए यह समयसीमा के तत्काल अगले समाप्ति दिन तक रहेगी. पहले यह समय सभी सामानों के लिए 30 दिनों का था।

29 मई को भारत के विदेशी पूंजी भंडार में समाप्त सप्ताह के दौरान 3.436 अरब डॉलर की वृद्धि दर्ज की गई और यह 493.480 अरब डॉलर हो गया.। बता दें कि आरबीआई की तरफ से जारी साप्ताहिक आंकड़े के मुताबिक, विदेशी पूंजी भंडार 22 मई को समाप्त सप्ताह के दौरान के 490.044 अरब डॉलर से बढ़कर 493.480 अरब डॉलर हो गया.

विदेशी पूंजी भंडार में विदेशी मुद्रा भंडार, स्वर्ण भंडार, विशेष आहरण अधिकार और अंतंर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में भारतीय भंडार शामिल होते हैं. साप्ताहिक आधार पर विदेशी पूंजी भंडार में सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा भंडार 3.503 अरब डॉलर बढ़कर 455.208 अरब डॉलर हो गया.

हालांकि देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 970 लॉख डॉलर घटकर 32.682 अरब डॉलर पर आ गया. लेकिन एसडीआर मूल्य 1.432 अरब डॉलर पर बरकरार रहा. देश का आईएमएफ में भंडार 310 लाख डॉलर बढ़कर 4.158 अरब डॉलर हो गया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: