जानिए क्यों सरकार ने मार्च 2021 तक नई योजनाओं की शुरुआत पर रोक लगाया

कोरोना महामारी के कारण भारत की अर्थव्यवस्था दिन-ब-दिन लुढ़कती जा रही है। जिस कारण मोदी सरकार ने उन सभी योजनाओं पर मार्च 2021 तक रोक लगा दी है जिसकी घोषणा 2020 – 21 के आम बजट में की गई थी। यह आदेश वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग पर भी लागू होगा जिसने योजनाओं के लिए मंजूरी दे दी है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक वित्त मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले व्यय विभाग ने कहा कि “कोरोला महामारी के कारण सार्वजनिक वित्तीय संसाधनों की मांग काफी बढ़ी है इसके लिए संसाधनों का सावधानी से इस्तेमाल करना जरूरी है।”

जबकि, सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत घोषित किए गए 20 लाख़ करोड़ के पैकेज के तहत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शामिल है जिस पर रोक नहीं लगाई जाएगी।

आखिर क्यों लगानी पड़ी योजनाओं पर रोक

सरकारी लेखा महानियंत्रक के पास उपलब्ध रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल 2020 में सरकार को केवल 27,548 करोड रुपए में का राजस्व प्राप्त हुआ है जबकि सरकार ने 30.07 लाखों रुपए खर्च किए हैं।वित्तीय संकट के कारण सरकार बाजार से ज्यादा कर्ज ले रही है। चालू वित्त वर्ष के लिए सरकार ने यह अनुमान लगाया था कि उसे 4.2 लाख करोड़ रुपए का कर्ज लेना होगा, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 लाख़ करोड रुपए कर दिया गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: