प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चीन पर अब तक का सबसे आक्रामक बयान, जानिए क्या कहा

कई दिनों से चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के दुस्साहस भरे कदमों के कारण भारत और चीन सीमा के बीच लगातार तनातनी बनी हुई थी। सोमवार को गलवान घाटी में चीन ने धोखेबाजी से, वार्ता करने गए भारतीय जवानों पर कायराना हमला किया जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए।इस हमले के बाद ही देश भर में चीन के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

आज देश के प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी जिसमें देश के विभिन्न राज्यों के प्रमुख मौजूद थे। सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस को छोड़कर सभी राजनीतिक दलों ने प्रधानमंत्री मोदी के साथ होने की बात की।

पीएम नरेंद्र मोदी ने मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी देते हुए कहा –

  • न तो उन्होंने हमारी सीमा में घुसपैठ की है, न ही उनके द्वारा (चीन) कोई पोस्ट कब्जाया गया है। हमारे 20 जवान शहीद हो गए, लेकिन जिन लोगों ने भारत माता की तरफ आंख उठाया, उन्हें सबक सिखाया गया।
  • चाहे वह तैनाती, कार्रवाई, जवाबी कार्रवाई हो… हवा, जमीन या समुद्र, हमारे सशस्त्र बलों को हमारे देश की रक्षा के लिए जो कुछ भी करना होगा वे करेंगे।
  • आज, हमारे पास यह क्षमता है कि कोई भी हमारी जमीन के एक इंच हिस्से पर भी नजर नहीं डाल सकता है। भारत की सशस्त्र सेना एक बार में कई क्षेत्रों में जाने की क्षमता रखती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आक्रामक रूप धारण करते हुए चीन पर एक कड़ा बयान दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की “भारत एक शांतिप्रिय देश है। सीमा पर किसी भी प्रकार के रोक-टोक का जवाब दिया जाएगा। चीन के द्वारा किसी भी पोस्ट पर कब्जा नहीं किया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने पर जोर दिया और उन्होंने बताया कि रोकने टोकने से की सीमा पर तनाव बना है।

The Gazette Today India - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चीन पर अब तक का सबसे आक्रामक बयान, जानिए क्या कहा
गेटी इमेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि सेना को यथोचित छूट दी गई है, सेना ने सीमाओं पर एक साथ मूव करने के लिए तैयार है। तनाव की स्थिति में सेना द्वारा और राजनीतिक स्तर पर भी तनाव को कम करने की कोशिश की जाएगी। भारत एक शांतिप्रिय देश है शांति और मित्रता चाहता है परंतु अगर उसकी संप्रभुता पर कोई खतरा मंडराता है तो उसका आंख से आंख मिलाकर जवाब देने के लिए भी तैयार है।

बता देगी भारत और चीन के बीच तनाव अब अपने चरम पर है जिस पर दुनिया भर के देशों और मीडिया की नजर बनी हुई है। ऐसे समय में प्रधानमंत्री मोदी का इस प्रकार आक्रामक रुख रखना काफी बड़ा संकेत देता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: