चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए इस भारतीय संगठन ने शुरू की बड़ी मुहिम

भारत और चीन के बीच पिछले कई दिनों से चल रहा तनाव अब अपने चरम पर पहुंच चुका है। सोमवार की रात बलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर चीनी सेना के हमले में लगभग 20 भारतीय जवान शहीद हो चुके हैं और कई जवान अभी भी गंभीर रूप से घायल हैं। देशभर में चीन और उससे आयातित वस्तुओं के बहिष्कार की मांग उठ रही है। देशभर के व्यापारियों ने चीन को सबक सिखाने के लिए चीन से आयात होने वाली वस्तुओं का बहिष्कार करने की बात कही है।

The Gazette Today India - चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए इस भारतीय संगठन ने शुरू की बड़ी मुहिम

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने चीन को आर्थिक चोट पहुंचाने के लिए योजना बना ली है। कटनी चीनी सामानों के बहिष्कार और भारतीय सामान को बढ़ावा देने के लिए ‘भारतीय सामान-हमारा अभिमान’ अभियान की शुरुआत की है।

The Gazette Today India - चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए इस भारतीय संगठन ने शुरू की बड़ी मुहिम
व्यापारी चीनी सामानों की होली जलाते हुए

कैट द्वारा जारी की गई लिस्ट में महत्वपूर्ण सामान

कैट ने चीन से आयातित होनेवाली लगभग 500 से अधिक वस्तुओं की सूची जारी की है। इस सूची में रोजमर्रा के काम आनेवाली वस्तुएं, खिलौने, दिवाली और होली के सामान, खाद्यान्न, कागज, स्टेशनरी इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रॉनिक का सामान, लगेज और हैंड बैग, चश्मा, किचन का सामान, कॉस्मेटिक्स, वस्त्र, घड़िया, टैक्सटाइल्स इत्यादि सामानों की सूची जारी की है।

The Gazette Today India - चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए इस भारतीय संगठन ने शुरू की बड़ी मुहिम

बता दें, कि भारत में सालाना चीन से 5.25 लाख करोड़ की वस्तुओं का आयात किया जाता है। कैट ने साल 2021 तक चीन से आयात होने वाली वस्तुओं में एक लाख करोड रुपए तक की कमी लाने का लक्ष्य रखा है।

कैट ने 3000 ऐसी वस्तुओं की भी सूची जारी की है जिनका निर्माण भारत में होता है, पर चीन से आयातित इन वस्तुओं के सस्ते होने के कारण उनका उपभोग अधिक होता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: