कड़वाहट के बावजूद भारत ने इस प्रकार की है नेपाल की मदद

बीते कई दिनों से नेपाल और भारत के बीच बन रही कड़वाहट के चलते समान सांस्कृतिक महत्ता वाले दोनों देशों के बीच स्थिति खराब होने के बावजूद भारत में नेपाल की तरफ दोस्ती के लिए बहुत बड़ा हाथ बढ़ाया है। भारत ने नेपाल में स्थित विश्व प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में सैनिटेशन सुविधा का निर्माण करने का फैसला लिया है।

The Gazette Today India - कड़वाहट के बावजूद भारत ने इस प्रकार की है नेपाल की मदद
पशुपतिनाथ मंदिर – काठमांडू

मंदिर परिसर में सैनिटेशन सुविधा का निर्माण भारत-नेपाल मैत्री परियोजना के तहत किया जा रहा है। सोमवार को भारतीय दूतावास, नेपाल के संघीय मंत्रालय और काठमांडू मेट्रोपोलिटन सिटी के बीच इस प्रोजेक्ट को लेकर हस्ताक्षर किए गए हैं। भारत सरकार इस परियोजना के लिए 2.33 करोड रुपए खर्च करेगी। काठमांडू मेट्रोपोलिटन सिटी के मुताबिक इस परियोजना को पूरा होने में 15 महीनों का समय लगेगा।

नेपाल की बागमती नदी के किनारे पर बना पशुपतिनाथ मंदिर नेपाल के सबसे बड़े मंदिर परिसरों में से एक है। यहां नेपाल और भारत के हजारों श्रद्धालु भगवान शंकर के दर्शन करने आते हैं।

The Gazette Today India - कड़वाहट के बावजूद भारत ने इस प्रकार की है नेपाल की मदद
नेपाल का विवादित नक्शा नारंगी रंग में

बता दें, कि नेपाल ने भारतीय क्षेत्र लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधूरा को अपने नए राजनीतिक नक्शे में शामिल करने के लिए नेपाल की संसद में संविधान संशोधन बिल पेश किया है।इसके बावजूद भी भारत ने नेपाल की ओर कड़वाहट ओं को कम करने के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: