जाने एमसीडी द्वारा लगाए गए आरोपों का दिल्ली सरकार ने क्या दिया जवाब

देश की राजधानी दिल्ली में दिन-प्रतिदिन कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है. वही जैसे-जैसे इस जानलेवा वायरस का कहर बढ़ रहा है. दूसरी ओर इससे होने वाली मौतों की संख्या में भी बढ़ोतरी होती हुई दिखाई दे रही है. आपको बता दें कि इसी बीच राजधानी नगर निगम (एमसीडी) ने सरकार पर मौतों का आंकड़ा छुपाने का आरोप लगा है.

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के ताजा आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में अब तक दो हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना के कारण मौत हो चुकी है. एमसीडी के मुताबिक दिल्ली में अब तक 2098 कोरोना वायरस से संक्रमित शवों का दाह संस्कार किया जा चुका है. सबसे ज्यादा मौतें साउथ एमसीडी में दर्ज की गई हैं.

वही अब दिल्ली सरकार ने एमसीडी के आरोपों पर कहा कि कोरोना से होने वाली मृत्यु के आंकलन हेतु दिल्ली सरकार ने वरिष्ठ डॉक्टर्स की एक डेथ ऑडिट कमेटी बनाई है, जो निष्पक्ष तरीके से अपना काम कर रही है. दिल्ली हाईकोर्ट ने भी कमेटी को सही ठहराते हुए कहा था कमेटी के काम करने के तरीके पर सवाल नहीं उठाया जा सकता.

साथ ही आपको बताते चलें कि आगे सरकार ने बताया कि हमारा मानना है कि कोरोना से किसी की भी मौत नहीं होनी चाहिए. हमें मिलकर एकजुट होकर लोगों की जान बचानी है. ये वक्त आरोप-प्रत्यारोप का नहीं है. हम सबको मिलकर इस महामारी से लड़ना है और ये सुनिश्चत करना है कि कोरोना से एक भी मौत ना हो.

Leave a Reply

%d bloggers like this: