21 जून का सूर्य ग्रहण चीन-POK के लिए हो सकता है विनाशकारी : दावा

काशी के ज्योतिष ने दावा किया है कि ज्योतिष शास्त्र और खगोलीय घटना सूर्य ग्रहण 21 जून को चीन, POK और कश्मीर के विभागों के लिए विनाशकारी साबित हो सकता है।

यह दावा 6वीं शताब्दी के ज्योतिषाचार्य वराहमिहिर द्वारा रचित ग्रंथ ‘बृहत्संहिता’ के 77 वें श्लोक में लिखा है आषाढ़ माह में लगने वाला सूर्यग्रहण धरती के इन विभागों के लिए नुकसानदायक साबित होगा।

The Gazette Today India - 21 जून का सूर्य ग्रहण चीन-POK के लिए हो सकता है विनाशकारी : दावा
प्रतीकात्मक फ़ोटो

बता दें, कि देवज्ञ ज्योतिषी आचार्य वराहमिहिर छठवीं शताब्दी में चंद्रगुप्त विक्रमादित्य के नौ रत्नों में से एक थे। इनके बताए ज्योतिषी सिद्धांत आज भी प्रासंगिक हैं। इन्हीं के द्वारा बताए ज्योतिषी सिद्धांत पर देश-दुनिया की ज्योतिष ज्ञान टिकी हुई है। दुनियाभर के तमाम ज्योतिष इन्हीं के ग्रंथों का अनुसरण करते हैं।

भारत के सीमावर्ती इलाकों के लिए खतरे की घंटी

काशी के ज्योतिष पंडित पवन त्रिपाठी ने बताया कि 21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण जगहों पर काफी नुकसान पहुंचा सकता है क्योंकि ग्रहों का योग काफी उत्पातकारी है। भारत के सीमावर्ती इलाकों में लोग विद्रोह कर सकते हैं, प्राकृतिक प्रकोप, भूकंप आदि आ सकते हैं या सैन्य कार्यवाही भी हो सकती है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: