डिजिटल होने की राह में सुप्रीम कोर्ट, अब व्हाट्सएप और ईमेल के जरिए भेज सकेंगे नोटिस-समन

कोरोना वायरस की वजह से कई सारे काम अब डिजिटल माध्यमों से किए जा रहे हैं, इसी राह पर देश की न्याय प्रक्रिया भी चल रही है जब से देश भर में कोरोना महामारी का संक्रमण फैला है सुप्रीम कोर्ट अपने कई सारे मामलों की सुनवाई के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैसे माध्यम का प्रयोग कर रही है। डिजिटल होने की दिशा में एक और कदम आगे बढ़ते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को एक और बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा की अब व्हाट्स ऐप और ई मेल के जरिए नोटिस या समन भेजा जा सकता है।

The Gazette Today India - डिजिटल होने की राह में सुप्रीम कोर्ट, अब व्हाट्सएप और ईमेल के जरिए भेज सकेंगे नोटिस-समन
गेटी इमेज

शुक्रवार को एक मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस बोपन्ना और जस्टिस रेड्डी ने निर्देश जारी करते हुए बताया कि अब व्हाट्सएप या टेलीग्राफ के जरिए समन या नोटिस भेजा जा सकता है। साथ ही ईमेल के जरिए भी इसे संबंधित व्यक्ति को भेजा जाएगा और अगर व्हाट्सएप पर ब्लू टिक आता है तो यह मान लिया जाएगा कि रिसीवर ने नोटिस को देख लिया है।

बता दें, कि कोरोना महामारी के चलते सुप्रीम कोर्ट सहित देश के अन्य निचली अदालतों में भी ऑनलाइन माध्यम से सुनवाई हो रही थी। शुरुआती समय में केवल सुप्रीम कोर्ट में ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई हो रही थी, बाद में हाई कोर्ट और सेशन कोर्ट की भी इसकी इजाजत दी गई।

गौरतलब है कि इससे पहले फिजिकल तौर पर ही नोटिस और समन भेजे जाते थे जिसमें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: