कोका कोला-थम्स अप पर बैन की मांग पर याचिकाकर्ता पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 5 लाख का जुर्माना-

कोका कोला और थम्स अप पर प्रतिबंध लगाने की जनहित याचिका दाखिल करने वाले याचिकाकर्ता पर सुप्रीम कोर्ट ने 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. याचिकाकर्ता का नाम उमेद सिंह चावड़ा है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि याचिकाकर्ता ने कानून की प्रक्रिया का दुरुपयोग किया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस विषय पर बिना किसी तकनीकी जानकारी के याचिका दायर की गई है.

The Gazette Today India - कोका कोला-थम्स अप पर बैन की मांग पर याचिकाकर्ता पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 5 लाख का जुर्माना-

सुप्रीम कोर्ट ने कोका कोला और थम्स अप पर दाखिल की गई याचिका खारिज कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता अपने दावे को साबित नहीं कर पा रहा है कि कोका कोला और थम्स अप स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

उसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता पर पांच लाख का जुर्माना लगाते हुए कहा कि ये रकम याचिकाकर्ता को एक महीने के अंदर शीर्ष अदालत की रजिस्ट्री के पास जमा कराने होंगे और ये रकम सुप्रीम कोर्ट एडवोकेट ऑन रिकार्ड को दी जाएगी.

जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस अजय रस्तोगी की तीन जजों की बेंच ने अपने आदेश में कहा कि इन दलीलों में कोई सच्चाई या स्पष्टीकरण नहीं है. कोका कोला औऱ थम्स अप को ही टारगेट क्यों बनाया गया?

कोर्ट ने कहा कि हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि अनुच्छेद 32 के तहत एक जनहित याचिका में अधिकार क्षेत्र का इस्तेमाल इस तरह नहीं किया जा सकता. याचिकाकर्ता पर अनुकरणीय जुर्माना जरूरी है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: